जनता पर महंगाई की एक और मार

होटल का खाना होगा महंगा


मुंबई 

होटल संचालकों के आहार संघ के अध्यक्ष शिवानंद शेट्टी ने बताया कि अगर आपको कुछ भी सेलेब्रेट करना हो तो आप होटल और रेस्तरां से खाने पीने की चीजें मंगाते हैं। पर अब यह मुश्किल होगा, क्योंकि होटल और रेस्टोरेंट में खाने-पीने की चीजों के दाम 30 फीसदी तक बढ़ जाएंगे। ईंधन की कीमतों में बढ़ोत्तरी के बाद सिलेंडर की कीमतों में वृद्धि अब उपभोक्ताओं को प्रभावित करेगी। ऐसा इसलिए है क्योंकि दैनिक खर्चों को पूरा करने के लिए जल्द ही होटल के भोजन की कीमतें बढ़ाने के अलावा कोई विकल्प नहीं है। शेट्टी ने कहा कि कोरोना और लॉकडाउन ने कुछ समय के लिए कारोबार बंद कर दिया है, लागत बढ़ रही है और आय कम हो रही है। शेट्टी ने कहा कि घाटे की भरपाई और कारोबार को चालू रखने के लिए खाद्य कीमतों को बढ़ाने के अलावा कोई विकल्प नहीं है। अब आपका होटल डाइन-इन भी महंगा होने वाला है। औसतन,अलग-अलग होटलों की अलग-अलग दरें होती हैं। विभिन्न होटलों की लागत भी भिन्न होती है। 

वहीं होटल के कर्मचारियों को अधिक भुगतान करना पड़ता है। एक जनवरी तक बढ़ोत्तरी की उम्मीद है। खाद्य एवं औषधि प्रशासन के मुताबिक, रेस्तरां संचालकों को राहत तभी मिलेगी जब कीमतों में औसतन 15-20 फीसदी की बढ़ोतरी होगी। छोटे होटल एक दिन में दो व्यावसायिक सिलेंडर का उपयोग करते हैं। बड़े रेस्तरां औसतन पांच सिलेंडर का उपयोग करते हैं। पिछले साल सितंबर में औसत कमर्शियल सिलेंडर की कीमत करीब 1,000 रुपए थी लेकिन अब यह 2,000 रुपए के करीब पहुंच गई है। नतीजतन, होटल व्यवसायियों का खर्च तेजी से बढ़ा है और राजस्व में गिरावट आई है, पिछले साल सितंबर में औसत वाणिज्यिक सिलेंडर की कीमत 1,000 रुपए के आसपास थी और अब यह 2,000 रुपए के आसपास है। नतीजतन, होटल व्यवसायियों का खर्च तेजी से बढ़ा है और राजस्व में गिरावट हो रही है।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget