भारत ने चीन भारत को कराया अपनी ताकत का एहसास


नई दिल्ली

भारतीय सेना ने सोमवार को पूर्वी लद्दाख में अपनी तीव्र प्रतिक्रिया क्षमताओं को साबित करने के लिए हवाई अभ्यास शुरू किया। इसमें सैनिकों और उपकरणों के आसानी से मुवमेंट, सटीक स्टैंड-ऑफ ड्रॉप्स और कम समय में टारगेट का पता लगाने की क्षमता शामिल है। यह अभ्यास ऐसे समय पर हो रहा है, जब वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर भारत और चीन के बीच गतिरोध की स्थिति बनी हुई है। इस मामले से जुड़े अधिकारियों ने नाम नहीं छापने की शर्त पर यह बात कही है। इसे हवाई ब्रिगेड को शत्रुजीत कहा जाता है। इसमें सेना के बेहतरीन पैराट्रूपर्स शामिल होते हैं। ये तीन दिवसीय उच्च ऊंचाई वाले युद्धाभ्यास के केंद्र बिंदु है। इसमें सैनिकों को 14,000 फीट से अधिक की ऊंचाई पर एक ड्रॉप जोन में डाला गया। एक अधिकारी ने कहा कि स्पेशल वाहनों और मिसाइल टुकड़ियों के साथ अमेरिकी मूल के C-130J विमान और सोवियत मूल के AN-32 विमानों के माध्यम से थिएटर को पांच अलग-अलग ठिकानों से ले जाया गया। इस दौरान ड्रॉफ्स विशेष रूप से चुनौतीपूर्ण थी क्योंकि यह माइनस 20 डिग्री की स्थिति में हुई थी। विशेषज्ञों ने कहा कि अभ्यास का समय महत्वपूर्ण था क्योंकि लद्दाख में तनाव को शांत करने के लिए भारत और चीन के बीच 13वें दौर की सैन्य वार्ता के तीन सप्ताह बाद इसका आयोजन किया जा रहा था। उत्तरी सेना के पूर्व कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल बीएस जसवाल (सेवानिवृत्त) ने कहा कि भारतीय सेना उच्च ऊंचाई वाले अभ्यास के साथ चीन को अपनी लड़ाकू क्षमताओं का स्पष्ट रूप से प्रदर्शन कर रही है। जसवाल ने कहा कि सीमा विवाद के बाद भारत चीन के सामने खड़ा हो गया और अब सेना यह संदेश दे रही है कि पीएलए को भारतीय सैन्य क्षमताओं को कम नहीं आंकना चाहिए। इस तरह के अभ्यास अतीत में आयोजित किए गए हैं, लेकिन छोटे पैमाने पर। पिछले साल लद्दाख सेक्टर में भारत के साथ जारी गतिरोध के बाद से अरुणाचल प्रदेश में LAC के पार संवेदनशील क्षेत्रों में चीन गश्त तेज कर दी है। पीएलए ने नए शामिल किए गए सैनिकों की निगरानी के लिए क्षेत्र के वर्चस्व वाले गश्त को भी तेज कर दिया है।

 साथ ही पूर्वी क्षेत्र में सैन्य गतिविधियों की निगरानी के लिए वरिष्ठ पीएलए अधिकारियों के दौरे में उल्लेखनीय वृद्धि हुई है।


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget