'साधु-संतों का ध्यान भंग करती है अजान'

pragya singh thakur

भोपाल

भाजपा की भोपाल से सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने एक बार फिर विवादास्पद बयान देकर राजनीतिक माहौल में गरमाहट ला दी है। इस बार नमाजों से होने वाली अजान के शोर पर आपत्ति जताई है और कहा कि इससे न केवल साधु-संतों का ध्यान भंग होता है बल्कि मरीजों को भी परेशानी होती है। सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने मंगलवार की रात को राममंदिर के एक कार्यक्रम में अपने संबोधन में अजान के शोर पर अप्रत्यक्ष रूप से हमला किया। उन्होंने कहा कि सुबह पांच बजे के आसपास तेज आवाजें आने लगती हैं। इससे तमाम बीमारियों के मरीजों की नींद खुल जाती है और उन्हें तकलीफ होती है। सुबह ब्रह्म मुहूर्त में साधु-संतों का साधना का समय भी होता है और आरती भी उसी दौरान होती है। इसके बाद भी सुबह-सुबह तेज आवाजें आती रहती हैं। सांसद प्रज्ञा सिंह ने कहा कि भारत सनातन देश है। दूसरे देश के जन्म हुए हैं और हमारा देश को किसी ने नहीं जन्माया है। हमारा कभी मरण नहीं होगा जबकि जो भी देश जन्में हैं उनका अंत निश्चित है। मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम की हम संतानें हैं। कांग्रेस पर हमला बोलते हुए उन्होंने फिर कहा कि अदालत में श्रीराम के अस्तित्व को झुठलाने के प्रयास किए हैं। सांसद ने कहा कि लाउडस्पीकर पर सुबह-सुबह शोर उचित नहीं है। उन्होंने यह भी कहा जब हम लाउडस्पीकर लगा लेते हैं तो विधर्मियों को आपत्ति होने लगती है। इस्लाम में दूसरे धर्म की आवाज सुनने को जायज नहीं माने जाने की बातें की जानी लगती हैं। प्रदेश कांग्रेस महासचिव और मीडिया प्रभारी केके मिश्रा ने सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर के साध्वी लिखने पर ही आपत्ति की। उन्होंने कहा कि वे अभी भी अापराधिक प्रकरण में आरोपी हैं। इसी तरह प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता जेपी धनोपिया ने कहा है कि सांसद प्रज्ञा सिंह साम्प्रदायिक सौहार्द्र को खत्म करना चाहती हैं। वहीं, संस्कृति बचाओ मंच के चंद्रशेखर तिवारी ने सांसद के बयान पर कहा है कि अजान के लिए लाउडस्पीकर पर शोर शराबा करना कानून के विरुद्ध है। इसे हिंदू धर्म की आरतियों के लिए तो इस तरह की सूचना नहीं दी जाती। गौरतलब है कि सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर हाल ही में अपने बयानों के लिए चर्चा में रही हैं।

 उन्होंने इसके पहले केंद्रीय विद्यालय क्रमांक दो में नमाज पढ़े जाने पर आपत्ति की थी और उस समय उन्होंने न केवल स्कूल प्रबंधन बल्कि पुलिस प्रशासन को भी जमकर फटकार लगाई थी। इसी तरह कांग्रेस विधायक पीसी शर्मा को उनके सामने ही दशहरा कार्यक्रम में रावण दहन के दौरान संबोधन में विधायक बनने लायक  नहीं कह दिया था जिससे वे नाराज होकर कार्यक्रम स्थल से चले गए थे। इनके अलावा हाल ही में उन्होंने कांग्रेस को हिंदू विरोधी करार देने वाले कई बयान दिए हैं जिनके खिलाफ कांग्रेस ने विरोध प्रदर्शन भी किए थे। 

सुबह पांच बजे के आस-पास तेज आवाजें आने लगती हैं। इससे तमाम बीमारियों के मरीजों की नींद खुल जाती है और उन्हें तकलीफ होती है। सुबह ब्रह्म मुहूर्त में साधु-संतों का साधना का समय भी होता है और आरती भी उसी दौरान होती है 

- प्रज्ञा सिंह ठाकुर


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget