जांबाज जवानों में मोदी ने भरा जोश

PM ने कहा- सेना ही मेरा परिवार, नौशेरा के शेरों के साहस को नमन


नई दिल्ली

हर साल की तरह इस साल भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी दिवाली सुरक्षाबलों के साथ ही मनाई। प्रधानमंत्री गुरुवार को राजौरी जिले के नौशेरा सेक्टर पहुंचे। यहां उन्होंने सैनिकों को दीपावली की शुभकामनाएं दीं और उन्हें मिठाई भी खिलाई। इस दौरान जवानों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि मैं यहां देश के 130 करोड़ लोगों की दुआ लेकर आया हूं।

मोदी ने कहा, मैं यहां प्रधानमंत्री के तौर पर नहीं, आपके परिवार के तौर पर आया हूं। आपका जो भाव अपने परिवार में जाकर होता है, वही मुझे अनुभव हो रहा है। मैंने हर दिवाली सीमा पर तैनात आप लोगों के बीच मनाने का संकल्प लिया। आज मैं यहां से नई उमंग और नया विश्वास लेकर जाऊंगा। आज शाम हिंदुस्तान का हर नागरिक दिवाली पर एक दीया आपके पराक्रम, शौर्य, त्याग और तपस्या के नाम लगाएंगे।

प्रधानमंत्री ने कहा कि आपको जो सौभाग्य मां की सेवा का मिला है, आपके चेहरे के उन मजबूत भाव को देख रहा हूं। आपका यही संकल्प पराक्रम करने की पराकाष्ठा, हिमालय हो, गहरी खाई हो, ऊंची चोटियां हों... वहां आप मां भारती का जीता जागता कवच हैं। आपके सामर्थ्य से देश में एक निश्चिंतता होती है। आपके पराक्रम की वजह से हमारे पर्वों में चार-चांद लग जाते हैं। दीपावली के बाद गोवर्धन पूजा, छठ पूजा की भी आप सभी देशवासियों को शुभकानाएं देता हूं।

'आज रक्षा के क्षेत्र में आत्मनिर्भरता आ रही'

मोदी ने कहा कि पहले हाल ये था कि जरूरत पड़ने पर जल्दबाजी में हथियार खरीदे जाते थे। आज रक्षा के क्षेत्र में आत्मनिर्भरता आ रही है। भारत ने यह तय किया है कि अब 200 से ज्यादा हथियार, साजो-सामान देश के भीतर ही खरीदे जाएंगे। ऐसे और भी कई सारे प्रयास किए जा रहे हैं। इससे डिफेंस सेक्टर मजबूत होगा। यह भारत के सामर्थ्य को दर्शाता है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि हमें अपनी तैयारियों को दुनिया में हो रहे तेज परिवर्तन के साथ ढालना होगा। पहले हाथी, घोड़े से लड़ाइयां होती थीं, लेकिन आज की युद्ध कला काफी बदल गई है। 

तकनीक के विकास से बड़ा परिवर्तन आया है। इसे देखते हुए हमने भी कई नए बदलाव किए हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि मैं नौशेरा की धरती पर उतरा तो एक अलग ही रोमांच से मेरा मन भर गया। यहां का वर्तमान आप जैसे वीर जवानों के साहस का जीता जागता उदाहरण है। उन्होंने कहा कि नौशेरा के शेरों ने हमेशा दुश्मनों को करारा जवाब दिया है। हर साजिश को नाकाम किया है। सर्जिकल स्ट्राइक में नौशेरा की अहम भूमिका रही है। जवानों ने नौशेरा की धरती पर वीरता की कई गाथाएं लिखी हैं।

PM मोदी का काफिला जब दिल्ली से निकला तो राजधानी की सड़कों पर असामान्य नजारा देखने को मिला। यहां से कम सुरक्षा और बिना किसी ट्रैफिक रिस्ट्रिक्शन के मोदी का काफिला गुजरता दिखाई दिया। 

मोदी आज सुबह जब अपने आवास से निकले, तो सुरक्षा के बहुत ज्यादा इंतजाम नहीं थे। इस दौरान यातायात में किसी प्रकार का बदलाव नहीं किया गया, ताकि लोगों को असुविधा नहीं हो।

जवानों के साथ उल्लास का पर्व

प्रधानमंत्री लगभग हर साल दिवाली मनाने के लिए जवानों के बीच पहुंचते हैं। कुछ साल पहले उन्होंने कहा था- हमारी सरहदों पर तैनात जवान हमें महफूज रखते हैं और उनकी वजह से ही हम त्योहार मना पाते हैं। PM जवानों के बीच पहुंचते हैं। उन्हें मिठाइयां खिलाते हैं और हालचाल पूछते हैं।

मोदी जम्मू-कश्मीर, उत्तराखंड और राजस्थान में भी जवानों के साथ दिवाली मना चुके हैं। पांच साल पहले वे उत्तराखंड के चमोली जिले पहुंचे थे और वहां तैनात भारतीय तिब्बती सीमा पुलिस (ITBP) के साथ दिवाली मनाई थी। 2017 में वे गुरेज सेक्टर पहुंचे थे। 2018 में वे उत्तराखंड पहुंचे थे।


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget