वैक्सीनेशन नहीं तो सैलरी नहीं

ठाणे

नगर निगम के कर्मचारियों को बिना कोरोना वैक्सीन सैलरी नहीं दी जाएगी। ये ऐलान नगर निगम की तरफ से किया गया है। नगर निगम ने सोमवार को ऐलान किया कि जिन कर्मचरियों ने कोरोना वैक्सीन नहीं लगवाई है उन्हें सैलरी नहीं मिल सकेगी। कर्मचारियों को सैलरी पाने के लिए अपना वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट दिखाना होगा। दरअसल कोरोना के खिलाफ जंग जीतने की मुहिम में अब ठाणे नगर निगम भी अपना योगदान दे रहा है। कर्मचारियों को कोरोना मुक्त बनाने के लिए टीएमसी ने ये सख्त कदम उठाया है।

ठाणे नगर निकाय के अधिकारियों ने निकाय के आयुक्त डॉ. विपिन शर्मा और मेयर नरेश म्हस्के के बीच एक बैठक के दौरान यह फैसला लिया गया। टीएमसी अधिकारियों ने कहा कि नगर निकायों के बहुत से कर्मचारियों ने अभी तक कोरोना वैक्सीन की एक भी खुराक या दूसरी खुराक समय निकलने के बदा भी नहीं ली है। जब तक ये लोग अपना वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट नहीं दिखाते उन्हें सैलरी नहीं दी जाएगी।

नगर निकाय के अधिकारियों ने बताया कि ठाणे शहर में 100 प्रतिशत टीकाकरण के लिए आज से विशेष अभियान शुरू किया गया है। महापौर ने कहा कि ‘हर घर दस्तक’ नाम से चलाए जा रहे अभियान के लिए 167 टीमों का गठन किया गया है। आशा कार्यकर्ता और नर्सें घर-घर जाकर वैक्सीन न लगवाने वाले नागरिकों की जानकारी इकट्ठा करेंगी। जिसके बाद उनका तुरंत वैक्सीनेशन किया जाएगा। ठाणे के मेयर ने कहा कि मरीजों के संग आने वाले रिश्तेदारों को कलवा स्थित छत्रपति शिवाजी महाराज अस्पताल में वैक्सीन की दोनों खुराकों का सर्टिफिकेट दिखाना होगा। अगर रोगी के रिश्तेदारों ने वैक्सीनेशन नहीं कराया है तो उन्हें भी तुरंत वैक्सीन लगाई जाएगी।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget