कृषि कानून वापसी की तैयारी तेज

भाजपा ने राज्यसभा सांसदों के लिए जारी किया व्हिप


नई दिल्ली

तीनों नए कृषि कानूनों को रद्द करने के लिए संसद के शीत सत्र के पहले ही दिन लोकसभा से पारित कराने की सरकार ने तैयारी शुरू कर दी है। इस क्रम में राजग और भाजपा के सभी सांसदों को व्हिप जारी किया जा रहा है। केंद्र सरकार कृषि कानूनों को पहले ही दिन रद्द कर आंदोलनकारी किसानों की सबसे बड़ी मांग पूरा करना चाहती है। सरकार इस कदम के जरिये प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा किसानों से 19 नवंबर को किए गए वादे को पूरा करेगी। कृषि कानूनों की वापसी से संबंधित तीनों विधेयक सोमवार से शुरू हो रहे शीत सत्र के पहले ही दिन कार्यसूची में शामिल करने की विधायी प्रक्रिया शुरू कर दी गई है।

भाजपा के सांसदों को पार्टी के चीफ व्हिप राकेश सिंह की ओर से उस दिन अनिवार्य से सदन में उपस्थित रहने के लिए निर्देश जारी किया जा रहा है। 

कृषि कानून रद्द करना, समाधान नहीं : टिकैत

नई दिल्ली/सोनीपत/गाजियाबाद। भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने तीनों केंद्रीय कृषि कानूनों को रद्द करने को लेकर अजब बयान दिया है। राकेश टिकैत ने गुरुवार को तेलंगाना में पत्रकारों से कहा कि केंद्र सरकार ने तीनों कृषि क़ानूनों को रद्द करने का फैसला किया है, लेकिन इससे समाधान नहीं होगा। किसानों की जो समस्या है, वह वैसी की वैसी है। जब तक केंद्र सरकार किसानों से बातचीत नहीं करेगी और न्यूनतम समर्थन मूल्य पर कानून नहीं लाएगी, तब तक हमारा प्रदर्शन जारी रहेगा।

सरकार को घेरेगी कांग्रेस

संसद के शीतकालीन सत्र के शुरू होने से पहले कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी के घर 10 जनपथ में पार्टी नेताओं की अहम बैठक हुई। बैठक में पार्टी की संसदीय रणनीति समूह के नेता शीतकालीन सत्र को लेकर चर्चा की। इसमें कांग्रेस नेता एके एंटनी, आनंद शर्मा, मल्लिकार्जुन खड़गे, अधीर रंजन चौधरी, केसी वेणुगोपाल, के सुरेश, रवनीत बिट्टू, और जयराम रमेश समेत कई अन्य नेता इस बैठक में शामिल रहे।


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget