बारिश के बाद चक्रवात का खतरा

भयावह हालात: चेन्नई में रेड अलर्ट, पुडुचेरी में स्कूल बंद, आंध्र में चेतावनी


चेन्नई

चेन्नई समेत पूरे तमिलनाडु में भारी बारिश से हालात बिगड़े हुए हैं। सड़कों से लेकर लोगों के घरों तक में पानी भर चुका है। अब एक और परेशानी भरी खबर आई है। मौसम विभाग ने कहा है कि अगले 24 घंटे में एक चक्रवाती तूफान तमिलनाडु और आंध्र प्रदेश पहुंच सकता है। IMD के मुताबिक बंगाल की खाड़ी के दक्षिण-पूर्व में बना कम दबाव का क्षेत्र अगले 24 घंटे में डीप डिप्रेशन में तब्दील हो सकता है। तमिलनाडु के राजस्व और डिजास्टर मैनेजमेंट मंत्री केकेएसएसआर रामचंद्रन ने मंगलवार को बताया कि राज्य में बारिश से 5 लोगों की जान जा चुकी है। निचले इलाकों में बने 538 कच्चे मकानों को नुकसान पहुंचा है। वहीं, 4 पक्के मकान पूरी तरह बर्बाद हो चुके हैं। रामचंद्रन ने कहा कि अगर बारिश आगे भी जारी रहती है, तो नुकसान के बढ़ने की आशंका है। बंगाल की खाड़ी से उठे चक्रवात के असर से सेंट्रल तमिलनाडु और राज्य के समुद्र के किनारे बसे जिलों में भारी बारिश और तेज हवाएं चल सकती हैं। इसके असर से 10 से 13 नवंबर के बीच जोरदार बारिश हो सकती है। इसके साथ ही आंध्र प्रदेश के दक्षिण तटीय इलाकों में भी भारी बारिश देखने को मिल सकती है। तमिलनाडु के अलग-अलग हिस्सों में पहले ही बारिश से हालात खराब हैं, ऐसे में चक्रवात की चेतावनी चिंता बढ़ाने वाली है। लगातार भारी बारिश की वजह से तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई के साथ मदुरै और रामेश्वरम में भी बाढ़ के हालात बन गए हैं। सड़कें पानी में डूबी हैं, तो लोगों के घरों में भी पानी पहुंच गया है। हालांकि, प्रशासन ने राहत दल तैनात किए हैं, जो लोगों को जरूरी चीजें पहुंचा रहे हैं, लेकिन बारिश से हुई तबाही के सामने उनकी कोशिशें कमतर साबित हो रही हैं। इधर, तमिलनाडु में चेन्नई से लेकर रामेश्वम तक भारी बारिश ने पहले ही तबाही मचा रखी है।

 नॉर्थ ईस्ट मानसून की बारिश पिछले 3 दिन से लगातार जारी है और जगह जगह लोग इसमें ट्रैप होकर रह गए हैं। मौसम विभाग ने तमिलनाडु में आज भी भारी से बहुत भारी बारिश की चेतावनी जारी की है। इसे देखते हुए स्कूल-कॉलेज बंद कर दिए गए हैं।

भारी बारिश के बीच राहत और बचाव कार्य के लिए चेन्नई और मदुरै में NDRF की टीमें तैनात की जा चुकी हैं। NDRF की एक टीम में 22 बचावकर्मी और लाइफ सेविंग इक्विपमेंट्स होते हैं। राज्य के बाकी इलाकों की समीक्षा करके वहां भी राहत और बचाव दल भेजे जा रहे हैं।


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget