एयर फोर्स की बढ़ेगी ताकत

आज झांसी में पीएम मोदी का बड़ा कार्यक्रम


झांसी

चीन के खतरे को सामने देखते हुए केंद्र सरकार ने जल, थल सेना के साथ ही वायु सेना को भी मजबूत करना शुरू कर दिया है। इसी कड़ी के तहत दुनिया का सबसे हल्का स्वदेशी अटैक हेलिकॉप्टर वायु सेना के हवाले किया जा रहा है। इसे हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्‍स लिमिटेड (HAL) ने बनाया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उत्तर प्रदेश के झांसी में अाज इसे वायु सेना को सौंपेंगे। इसके अलावा सेना को ड्रोन और एडवांस इलेक्टॉनिक वॉरफेयर सूट भी दिए जाएंगे। देशभर में स्वतंत्रता दिवस के 75 साल पूरे होने पर आजादी का अमृत महोत्सव पर्व मनाया जा रहा है। यह कार्यक्रम भी इसके अंतर्गत ही किया जा रहा है।

स्वदेशी लाइट कॉम्बैट 

हेलिकॉप्टर की सात खासियतें

 स्वदेशी डिजाइन और एडवांस तकनीक

 किसी भी मौसम में उड़ान भरने में सक्षम

 आसमान से दुश्मनों में नजर रखने में मददगार

 हवा से हवा में हमला करने वाली मिसाइलें लेजाने में सक्षम

 चार 70 या 68 MA रॉकेट ले जाने में सक्षम

 फॉरवर्ड इन्फ्रारेड सर्च, CCD कैमरा और थर्मल विजन और लेजर रेंज फाइंडर भी

 नाइट ऑपरेशन करने और दुर्घटना से बचने मे भी सक्षम

क्यों महसूस हुई जरूरत

1999 में कारगिल युद्ध के समय दुश्मन के ऊंचाई पर होने के कारण इस हेलिकॉप्टर की जरूरत महसूस हुई थी। इसके बारे में सबसे पहले 2006 में जानकारी सामने आई। 2015 में इसका ट्रायल किया गया। इस दौरान इसने 20 हजार से लेकर 25 हजार फीट की ऊंचाई पर उड़ान भरी। पिछले साल चीन के साथ हुए टकराव के बीच इसकी 2 यूनिट लद्दाख में तैनात की गई थीं।


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget