टाटा स्टील ने एयूएस का चयन किया


नई दिल्ली

अग्रणी एंड-टू-एंड ड्रोन सॉल्यूशन स्टार्ट-अप एयूएस (आरव अनमैन्ड सिस्टम्स) को उन्नत ड्रोन-आधारित उद्यम समाधान प्रदान करने के लिए टाटा स्टील के विभिन्न व्यावसायिक वर्टिकल से कई दीर्घकालिक अनुबंध हासिल हुआ है। एयूएस के ड्रोन से टाटा स्टील को अपनी खदानों को अधिक प्रभावी ढंग से संचालित करने और उत्पादकता बढ़ाने के अलावा उच्च नियामक अनुपालन और सुरक्षा सुनिश्चित करने में मदद मिलने की उम्मीद है। एयूएस का ड्रोन समाधान टाटा स्टील की प्रोजेक्ट टीम को ओडिशा में आने वाले कलिंगनगर विस्तार संयंत्र की प्रगति का नक्शा बनाने में मदद कर रहा है। 8 मिलियन टन की क्षमता वाला एकीकृत इस्पात स्‍टील कॉम्‍प्‍लेक्‍स भारत में सबसे बड़ा होगा। टाटा स्टील कॉरपोरेट ऑडिट टीम के एक अन्य अनुबंध में, एयूएस ने कई टाटा स्टील संस्थाओं में सभी 23 स्थानों पर बल्क इन्वेंट्री के ड्रोन-आधारित भौतिक सत्यापन के लिए दो साल के रेट कॉन्‍ट्रैक्‍ट पर हस्ताक्षर किए हैं। टाटा स्टील के प्राकृतिक संसाधन प्रभाग के लिए, एयूएस टाटा स्टील लिमिटेड के खनन पट्टों का मासिक ड्रोन सर्वेक्षण करेगा और उन्नत खान विश्लेषण प्रदान करेगा। टाटा स्टील लिमिटेड ने आंतरिक सर्वेक्षण आवश्यकताओं और आरएनडी एप्लिकेशन की पूर्ति के लिए तीन सर्वेक्षण-ग्रेड ड्रोन खरीदने के लिए एयूएस के साथ एक अनुबंध पर भी हस्ताक्षर किए। एयूएस और टाटा स्टील ने सभी 23 खानों, संयंत्रों और कच्चे माल के स्थानों पर एक वर्ष के लिए नागरिक उड्डयन मंत्रालय से ड्रोन संचालन के लिए छूट प्राप्त करने में सफल रही है। डीजीसीए ने टाटा स्टील संस्थाओं में ड्रोन संचालित करने के लिए एयूएस के एसओपी को एक साल के लिए मंजूरी दे दी है।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget