फिर एक्शन में NCB

विले पार्ले से जब्त की गई करोड़ों की हेरोइन


मुंबई 

नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) ने मंगलवार को मुंबई में एक बड़ी कार्रवाई को अंजाम दिया है। विले पार्ले इलाके में करोड़ों रुपए की हेरोइन जब्त की गई है। पिछले कुछ महीनों से एनसीबी ने ड्रग्स तस्करों के खिलाफ एक बड़ी मुहिम चलाई हुई है। मुंबई क्रूज ड्रग्स केस से चर्चा में आई एनसीबी ने विले पार्ले इलाके में एक बार फिर बड़ी कार्रवाई को अंजाम दिया है।

करोड़ों रुपए की हेरोइन जब्त किए जाने की इस कार्रवाई की जानकारी एनसीबी की ओर से दी गई है। एनसीबी टीम की ओर से इस मामले में संदिग्धों की खोज की जा रही है। एनसीबी के मुताबिक इस मामले में अभी जांच शुरू है।

‘JNPT में खड़े हैं अफीम के तीन कंटेनर, कार्रवाई कब?’

एनसीपी नेता नवाब मलिक ने मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित कर यह सवाल उठाया कि एनसीबी के कुछ अधिकारी बड़े-बड़े ड्रग्स कारोबारियों और माफियाओं को छोड़ दिया करते हैं, जबकि कुछ ग्राम ड्रग्स बरामद होने पर लोगों को फंसाया जाता है। उनके केस को बड़ा कर वसूली की जाती है। उन्होेंने सवाल किया कि आज भी जवाहर लाल नेहरू पोर्ट ट्रस्ट (JNPT) में अफीम के बीज के तीन कंटेनर खड़े हैं। उन पर कार्रवाई क्यों नहीं हो रही है?

नवाब मलिक ने कहा कि आर्यन खान से 18 करोड़ की डील किए जाने की बात सामने आ रही है। इससे पहले सारा अली खान, श्रद्धा कपूर, दीपिका पादुकोण को पूछताछ के लिए बुलाया गया। इस मामले में 14 महीने हो गए, एनसीबी ने चार्जशीट दायर नहीं की। यानी एनसीबी संस्था कुछ समय से सवालों के घेरे में है। ऐसे में एनसीबी की ओर से की गई हर नई कार्रवाई छवि सुधारने के लिए अहम मानी जाएगी।

कई हजार करोड़ की हेरोइन जब्त कर चुकी NCB 

नवी मुंबई के न्हावा शेवा बंदरगाह में अक्टूबर महीने में भी एनसीबी ने एक बड़ी कार्रवाई की थी। डीआरई की जोनल यूनिट ने 25 किलो हेरोइन का स्टॉक बरामद किया था। एक कंटेनर में यह स्टॉक छुपा कर रखा गया था। इसकी कीमत अंतर्राष्ट्रीय बाजार में 125 करोड़ रुपए थी। इस मामले में नवी मुंबई के एक बिजनेसमैन को गिरफ्तार भी किया गया था।

नवी मुंबई के न्हावा शेवा में ईरान से भी कंटेनर आया था। इस कंटेनर में हेरोइन होने की जानकारी मिली थी। सितंबर में डीआरआई ने 2,988.21 किलो हेरोइन जब्त की थी। इसकी अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कीमत  21 हजार करोड़ थी। 

गुजरात के मुंद्रा पोर्ट में भी कार्रवाई की गई। हेरोइन को पहले दिल्ली ले जाना था। दिल्ली से इसे देश के अलग-अलग हिस्सों तक पहुंचाना था। 

खास कर इसे पंजाब में भेजे जाने की योजना थी। जब इतनी बड़ी साजिश का पता चला तो यह मामला NIA को सौंपा गया,लेकिन इससे पहले ही डीआरआई ने आठ लोगों को गिरफ्तार किया था।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget