रमना सहित SC के आठ जज अगले साल होंगे रिटायर


नई दिल्ली

सुप्रीम कोर्ट में इस वर्ष एक साथ नौ जजों की नियुक्ति हुई जो कि एक रिकाॅर्ड है। अभी सुप्रीम कोर्ट में 33 जज काम कर रहे हैं और एक पद खाली है। लेकिन अगले वर्ष आठ जज सेवानिवृत्त हो जाएंगे, जिसमें प्रधान न्यायाधीश एनवी रमना और उनके बाद भारत के प्रधान न्यायाधीश (सीजेआई) का पद संभालने वाले जस्टिस यूयू ललित शामिल हैं। जजों की सेवानिवृत्ति का सिलसिला जनवरी से ही शुरू हो जाएगा। ऐसे में अगर समय रहते सुप्रीम कोर्ट में न्यायाधीशों की नियुक्ति नहीं हुई, तो जजों के कई पद खाली हो जाएंगे। फिलहाल सुप्रीम कोर्ट में न्यायाधीशों के मंजूर पद 34 हैं। सुप्रीम कोर्ट में जजों के सेवानिवृत्त होने का सिलसिला क्रिसमस और नववर्ष की छुट्टियां खत्म होते ही शुरू हो जाएगा। सबसे पहले 4 जनवरी को जस्टिस आर.सुभाष रेड्डी सेवानिवृत्त होंगे। जनवरी के बाद तीन महीने यानी फरवरी, मार्च, अप्रैल में कोई जज सेवानिवृत्त नहीं होगा। लेकिन मई से लेकर नवंबर तक हर महीने एक जज सेवानिवृत होगा। 10 मई को जस्टिस विनीत सरन सेवानिवृत्त होंगे। फिर सात जून को जस्टिस एल नागेश्वर राव और 29 जुलाई को जस्टिस एएम खानविलकर सेवानिवृत्त होंगे। चीफ जस्टिस एनवी रमना सीजेआई के रूप में 16 महीने का कार्यकाल पूरा करने के बाद 26 अगस्त 2022 को सेवानिवृत्त होंगे, हालांकि सुप्रीम कोर्ट में जज के तौर पर उनका कुल करीब आठ साल का कार्यकाल पूरा होगा। जस्टिस रमना के बाद वरिष्ठता के हिसाब से जस्टिस यूयू ललित प्रधान न्यायाधीश बनेंगे। प्रधान न्यायाधीश के तौर पर जस्टिस ललित का कार्यकाल संक्षिप्त होगा। वे करीब तीन महीने ही सीजेआई रहेंगे और आठ नवंबर 2022 को सेवानिवृत्त हो जाएंगे। 

जस्टिस रमना के बाद और जस्टिस यूयू ललित के सेवानिवृत से पहले दो और जज सेवानिवृत होंगे जिसमे जस्टिस इंदिरा बनर्जी 23 सितंबर 2022 को और जस्टिस हेमंत गुप्ता 16 अक्टूबर 2022 को सेवानिवृत होंगे। जस्टिस ललित के बाद वरिष्ठताक्रम के हिसाब से जस्टिस डीवाई चंद्रूचूड़ सीजेआइ बनेंगे। जस्टिस चंद्रचूड़ करीब दो वर्ष तक प्रधान न्यायाधीश रहेंगे।


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget